followers

सोमवार, 23 सितंबर 2013

ये राजनितिक पार्टी की जुलूस है

राजभवन/ राष्ट्रपति  भवन को कूच करता
यह जुलुस
आम आदमी का नहीं हो सकता //

ख़ास बात है
इस जुलूस में
बैनर बदले है
मांगे बदली है
मगर !
बैनर पकड़ने वालों का चेहरा एक ही है //

माइक पर जो व्यक्ति कल
सरकार की नीतियों का बखिया उधेड़ रहा था
आज वही शख्श ...
सरकार की उन्ही नीतियों पर
गंगा -जल डाल रहा है //
जाने दीजिये ...
इस जुलूस  को
ये राजनितिक पार्टी की जुलूस है //

8 टिप्‍पणियां:

  1. ये गया राम। ये आया राम ,
    ये सब रामों का एक राम ,

    ये निराकार ये सर्वाकार ,

    इसको कहते रजनीत राम ,

    करलो बच्चों इसको प्रणाम।

    उत्तर देंहटाएं
  2. आभार वीरेंद्र कुमार शर्मा भाई

    उत्तर देंहटाएं
  3. ..बिल्कुल सच...बहुत उम्दा प्रस्तुति.

    यहाँ भी पधारें
    http://sanjaybhaskar.blogspot.in

    उत्तर देंहटाएं
  4. बहुत खूब ... सच है ये सभी एक ही हैं ... बदलती आस्थाएं हैं इनकी ...

    उत्तर देंहटाएं
  5. कल 07/10/2013 को आपकी पोस्ट का लिंक होगा http://nayi-purani-halchal.blogspot.in पर
    धन्यवाद!

    उत्तर देंहटाएं
  6. जो व्यक्ति कल
    सरकार की नीतियों का बखिया उधेड़ रहा था
    आज वही शख्श ...
    सरकार की उन्ही नीतियों पर
    गंगा -जल डाल रहा है //

    सही है इनका तो जिधर धन, उधर हम वाला किस्सा है

    उत्तर देंहटाएं

मेरे बारे में