followers

बुधवार, 25 दिसंबर 2013

रफ़्तार

रोज टूट रहे है  रफ़्तार के रिकॉर्ड
रोज बन रहे है रफ़्तार के रिकॉर्ड
कोयला से बुलेट ट्रैन बन गया ..
पोस्ट कार्ड से एस एम् एस
नच बलिये ने मात दी
कत्थक /मोहिनी आटम/ कुचिपुड़ी को
शास्त्रीय संगीत मात खा गया
तमंचे में डिस्को से ...

रफ़्तार घटी तो सिर्फ...
प्यार /रिश्ते और विश्वास के पेड़ की //

6 टिप्‍पणियां:

  1. सब कुछ दौड़ाने के चक्कर में हो बब्बन जी :)

    उत्तर देंहटाएं
  2. आज की पीढ़ी रफ़्तार पसंद है...हम को भी भागना पड़ेगा अगर साथ चलना है...

    उत्तर देंहटाएं
  3. आपकी इस प्रस्तुति का लिंक 26-12-2013 को चर्चा मंच की चर्चा - 1473 ( वाह रे हिन्दुस्तानियों ) पर दिया गया है
    कृपया पधारें
    आभार

    उत्तर देंहटाएं
  4. सच कहा आपने घट गया तो बस विश्वास और प्रेम

    उत्तर देंहटाएं

मेरे बारे में