followers

गुरुवार, 5 दिसंबर 2013

ये साला रुपया-पैसा

भव्य  मकान है
गर्लफ्रेण्ड है
कार है
वीयर है
वाइन है
रेव पार्टी है 
तलाक है
हत्या है 
बहुत सारे व्यसन है 
उनके पास ..
समाज  के लोग उन्हें प्रतिस्थित कहते है ! 

टूटी खपरैल मकान है 
मेहनत है 
मजदूरी है 
प्यार है 
चोर कुछ ले जाए
डर नहीं 
सुबह होगी
काम में दोनों निकल पड़ेंगे !

आओ दोस्तों
रूपये के पीछे दौड़ लगाते है //

7 टिप्‍पणियां:

  1. बढ़िया है ,बेहतरीन अभिव्यक्ति...!
    ----------------------------------
    Recent post -: वोट से पहले .

    उत्तर देंहटाएं
  2. दौड़ भी लेंगे
    पर रुपिया
    मना कर देगा
    देख कर
    शक्ल और अक्ल :)

    उत्तर देंहटाएं
  3. मुझे ख़ुशी हुई आभार आपका

    उत्तर देंहटाएं

मेरे बारे में