followers

शनिवार, 18 मई 2013

रोने की आदत


वे गुजर रहे होते हैं
तो देखकर भी
मन नहीं करता उन्हें टोकने का /बोलने का
मिलते ही शुरू हो जाते है
मानों दुनिया के सारे दुःख
डाल  दी गई हों उनकी झोली में //

उन्हें
बार-बार दिखते है  वैसे चेहरे
 जो घूम रहे होते है
वातानुकूलित मंहगी गाड़ियों में/ हवाई जहाजों में
और
काटते रहते हैं फीते
सम्मेलनों और आयोजनों के //


मैं उन्हें /अपने  साथ
घुमाना जाता हूँ गाँव
ताकि उन्हें हमेशा याद रहे
पुआल पर बेखवर सोये लोगों के चेहरे
किसी भी चीज को खाकर पेट भर लेने  की आदत //

शायद!
 ऐसा होने से
वे रोना बंद कर देंगे //

5 टिप्‍पणियां:

  1. शायद!
    ऐसा होने से
    वे रोना बंद कर देंगे //..आपका सोचना बिलकुल सही है

    उत्तर देंहटाएं
  2. आभार आशुतोष मिश्र जी

    उत्तर देंहटाएं
  3. जिनकी आदत है रोने की ,आप कुछ भी कर लें वो रोते ही रहेंगे .....

    उत्तर देंहटाएं
  4. निवेदिता जी... प्रयास तो करना ही होगा ...

    उत्तर देंहटाएं

मेरे बारे में