followers

शुक्रवार, 19 जुलाई 2013

प्यार की गोली (हसिकाएं)

(१)
मैं तुम्हें पसंद
तुम मुझे
खयालात दोनों के
अब मिलने लगे गले
अरे ! हटो ..
मुझे  तो इश्क होने लगा

(२)
लव की पोटली से
एक गोली खाकर
वह लगा डकरने
आओ ! सनम
नहीं तो , मैं चला मरने ...

6 टिप्‍पणियां:

  1. बढिया, बहुत सुंदर

    मेरी कोशिश होती है कि टीवी की दुनिया की असल तस्वीर आपके सामने रहे। मेरे ब्लाग TV स्टेशन पर जरूर पढिए।
    MEDIA : अब तो हद हो गई !
    http://tvstationlive.blogspot.in/2013/07/media.html#comment-form

    उत्तर देंहटाएं
  2. बहुत सुंदर अनुभूति
    उत्कृष्ट प्रस्तुति
    बधाई


    आग्रह है मेरे ब्लॉग में भी सम्मलित हों
    केक्ट्स में तभी तो खिलेंगे--------

    उत्तर देंहटाएं
  3. अरे ! हटो ..
    मुझे तो इश्क होने लगा
    उम्दा प्रस्तुतिकरण....!!

    उत्तर देंहटाएं

मेरे बारे में