followers

शुक्रवार, 18 अक्तूबर 2013

ऋणात्मक ऊर्जा

तुममें इतनी ताकत नहीं कि
हवाओं को पटक सको
बादलों को रोक सको
फूलों से खुशबू छीन सको
और तो और
मुगियों को कटने से रोक सको //

मगर तुममें    बहुत  ऊर्जा  है
संवेदनशील से संवेदनहीन बन जाने के लिए
क्षण में विचारों को पलट  देने के लिए
माँ- बहनों   को नंगा  करने  के लिए

जरा  सोचो ..
तुम्हारी ऊर्जा का वहाब किधर  जा  रहा  है


3 टिप्‍पणियां:

मेरे बारे में