followers

शनिवार, 27 नवंबर 2010

अल्लाह को प्यारा हो गया एक बन्दा

पेड़ रंगे थे
घर सजे थे
और यायायात बन्द
कारण ....
मंत्री जी का है आगमन ॥


उधर चिकित्सा -वाहन से
निकलती दर्द की चीख
दब गई सायरन के आवाज में
बन्दा अल्लाह को प्यारा हो गया ॥

9 टिप्‍पणियां:

  1. विडम्बना और दर्द को बड़ी सटीक अभिव्यक्ति मिली है!
    आभार!

    उत्तर देंहटाएं
  2. बबन जी......आज की सच्चाई पर एक अच्छा कटाक्ष है ......जिसमे आम आदमी की जान की कोई कीमत नहीं हैं........

    उत्तर देंहटाएं
  3. बबन जी अब ये आम बात हो गई
    नेता का आगमन हो या हडताल
    नेताओ की जान मंहगी और
    जनता की जान तो सस्ती हो गई

    उत्तर देंहटाएं
  4. बबन जी, कोई नयी बात नहीं है ..................आजकल आम आदमी को इसी तरह की मुसीबतों का सामना करना पड़ रहा है .............समाधान तो इसका कोई है नहीं. किसी दिन "उनके" किसी अपने को ऐसी परिस्थिति से जूझना पड़े तो शायद कोई हल निकल आये.

    उत्तर देंहटाएं
  5. @Vijaylakshi ji! samadhan hai, Rajniti ko ghate ka sauda bana dena. fir mantri ji tamjham wale nahi hoNge.

    उत्तर देंहटाएं

मेरे बारे में