followers

रविवार, 5 दिसंबर 2010

गुजारिश


नज़र से नज़र को मिलायो इस कदर
कि किसी की नज़र ना लगे
मेरे खयालों में आओ इस कदर
कि किसी को खबर ना लगे //

ए खुदा ! सब पर रहम कर इस कदर
कि कोई इंसान बीमार ना लगे
दोस्त ! खुदा से कुछ भी मांगो इस कदर
कि उसे भी ज़हर ना लगे //

27 टिप्‍पणियां:

  1. बबन जी बहुत ही खूबसूरत गुज़ारिश है..........खुदा से माँगो इस कदर की उसे भी जहर ना लगे...............:))

    उत्तर देंहटाएं
  2. बहुत सुन्दर "गुज़ारिश" है बब्बन जी,ज़रा इसे भी देखिए:
    "मेरे पास मेरे हबीब आ,ज़रा और मेरे करीब आ,
    तुझे धडकनों में बसा लूँ मैं, न नज़र का भी रहे फासला"

    उत्तर देंहटाएं
  3. खुदा से कुछ भी मांगो इस कदर
    कि उसे भी ज़हर ना लगे /

    bahut sundar guzarish...sundar bhav..aabhar

    उत्तर देंहटाएं
  4. मेरे खयालों में आओ इस कदर
    कि किसी को खबर ना लगे ..
    kya khoob kaha Babban ji bahut sundar

    उत्तर देंहटाएं
  5. शुक्रिया //
    कैलाश चन्द्र शर्मा जी
    किरण आर्य जी
    विनोद कथूरिया जी और
    संध्या जी ....

    उत्तर देंहटाएं
  6. नज़र से नज़र को मिलायो इस कदर
    कि किसी की नज़र ना लगे
    मेरे खयालों में आओ इस कदर
    कि किसी को खबर ना लगे

    वाह वाह जी
    क्या बात है नज़र की

    उत्तर देंहटाएं
  7. खुदा से माँगो इस कदर की उसे भी जहर ना लगे...सुन्दर गुज़ारिश

    उत्तर देंहटाएं
  8. वाह क्या बात कही है……………बहुत सुन्दर्।

    उत्तर देंहटाएं
  9. Wah!! kya baat hai pandey ji..hum to kayal hai aapki lekhni ke..wah!!

    उत्तर देंहटाएं
  10. इतने कम शब्दों में इतनी गहरी बाते....आप बधाई के पात्र है

    उत्तर देंहटाएं
  11. भाई साहब,
    आपने तो घायल कर दिया।

    उत्तर देंहटाएं
  12. Kya baat hai!!!
    नज़र से नज़र को मिलायो इस कदर
    कि किसी की नज़र ना लगे
    मेरे खयालों में आओ इस कदर
    कि किसी को खबर ना लगे //

    खुदा से कुछ भी मांगो इस कदर
    कि उसे भी ज़हर ना लगे //

    Bahoot Sundar!!!

    उत्तर देंहटाएं
  13. gujarish ke liye hum sukragujar hain,apke harek kavita gul nahi guljar hain!!!!! agle din bhi hume aapke kavita milte rahen hume ish baat ki tahe dil se intjar hain!!!!!!!!!!!!!!

    उत्तर देंहटाएं
  14. बहुत ही अच्छी गुजारिश की है आपने |
    सुन्दर रचना| धन्यवाद|

    उत्तर देंहटाएं
  15. मेरे ख़यालों में आया करो इस कदर
    कि किसी को ख़बर ना लगे।।

    अच्छी रचना बधाई।

    उत्तर देंहटाएं
  16. Please guide me how to type post in hindi ? Which keyboard will work ? I have SHRI LIPI 5 and I am using DOE keyboard.

    But I don't know through which program I can type or post in Hindi ?

    उत्तर देंहटाएं
  17. आदरणीय babanpandey ji
    नमस्कार
    खुदा से कुछ भी मांगो इस कदर
    कि उसे भी ज़हर ना लगे //
    xxxxxxxxxxxxxxx
    क्या कमाल का ख्याल है भाई ...बहुत खूब ...शुक्रिया

    उत्तर देंहटाएं
  18. नमस्कार
    आपका कैसे आभार प्रकट करूँ ...बहुत प्रसन्न हुआ मन इस बात को सोचकर की अब आपका आशीर्वाद और मार्गदर्शन निरंतर मिलता रहेगा ...धन्यवाद

    उत्तर देंहटाएं
  19. "आपसी टकराव को टालती हुई..नज़र बचाती आपकी गुज़ारिश सबके स्वाभिमान कि रक्षा करती नज़र आती है..आदरणीय बबन सर, दोस्ती का रंग-बिरंगा टीका लगाना चाहता हूँ आपकी कृति को..कहीं मेरी ही नज़र न लग जाये...आपके स्नेह की प्रतीक्षा में"

    उत्तर देंहटाएं
  20. नज़र से नज़र को मिलायो इस कदर
    कि किसी की नज़र ना लगे
    मेरे खयालों में आओ इस कदर
    कि किसी को खबर ना लगे

    अत्यंत प्रभावशाली पंक्तियां हैं
    अच्छे विचारों से युक्त अच्छी कविता।

    उत्तर देंहटाएं
  21. यु ही आते रहे नित नए रचनाओ की महक,
    ऐ खुदा बस गुजारिश हे तुझ से इतनी.....

    उत्तर देंहटाएं

मेरे बारे में